Control On Population COP

एक धर्म कहेता है बच्चे पेदा करो 2036 तक पूरे देश मे तुम्हारा राज होगा। परवरिश की चिंता मत करो बच्चो को खाना ऊपर वाला खिलाएगा। दूसरा धर्म कहेता है धर्म की रक्षा के लिए बच्चे पेदा करो।
क्या औरत बच्चे पेदा करने की मशीन है?
सिर्फ अपने धर्म का फेलावा करने के लिए या अपना आधिपत्य जमाने के लिए आप अपनी आने वाली पीढ़ी को क्यो दोज़ख की ज़िंदगी दें रहे हो।
यह फतवा निकाल ते समय के यह बात कहेते समय किसिने भी यह सोचा है की देश की क्या हालत होगी?
खाने के लिए अनाज कहा से लाओगे? घर बनाने के लिए जमीन कहा से लाओगे? पैसा कमाने के लिए रोजगारी कहा से लाओगे? बच्चे पेदा कर कर के क्या आप जानवर सी जिंदगी जीना चाहोगे?
आज हम जहा भी जाते है हर जगह लाइन नजर आती है।
बस की, रेल्वे की या फिर हवाई मुसाफरी करनी हो लाइन।
अस्पताल मे दवाई लेने जाओ लाइन।
रेशनिग की दुकान पे लाइन।
मंदिर मे लाइन, मस्जिद मे लाइन।
स्कूल कॉलेज की एड्मिशन मे लाइन।
पढ़ाई के बाद बेकारों की लाइन। रोजगारी के लिए मारे मारे फिरते लोगो की लाइन।
अरे अब तो स्मशान मे जाओ वहा भी लाइन।
इन सब चीजों से बचना है तो एकही उपाय है। जिस तरह कोई व्यक्ति के दो से ज्यादा बच्चे हो वो इलैक्शन नहीं लड़ सकता। उसी तरह सरकार को यह भी कानून लागू कर देना चाहिए की कोई भी व्यक्ति के दो से ज्यादा बच्चे हो उसे नाही सरकारी नोकरी मिलेगी नाही कोई सरकारी सहाय मिलनी चाहिए।
क्या आप मेरी बात से सहमत है?